Deprecated: Function create_function() is deprecated in /home/indiajob/public_html/wp-content/plugins/baw-login-logout-menu/bawllm.php on line 13

Deprecated: Function create_function() is deprecated in /home/indiajob/public_html/wp-content/plugins/wp-job-manager-resumes/wp-job-manager-resumes.php on line 62

Deprecated: Methods with the same name as their class will not be constructors in a future version of PHP; WP_Categories_to_Tags has a deprecated constructor in /home/indiajob/public_html/wp-content/plugins/wpcat2tag-importer/wpcat2tag-importer.php on line 31
India - Career and Jobs in India
Sign in
Post Jobs

India

आज हम भारत के विषय मे काफी सारी बातें जानेंगे जैसे कि भारत का इतिहास, भारत का भूगोल और भी बहुत कुछ तो चलिए शुरू करते हैं।

इतिहास

आज हम प्राचीन भारत की प्रमुख घटनाओं के बारे में जानेंगे।

भारत के इतिहास की शुरुआत सिंधु घाटी सभ्यता से मानी जाती है। इसकी अवधि 2500 ई• पू• से 1750 ई• पू• तक मानी गई है। इसके प्रमुख शहर हड़प्पा मोहनजोदड़ो आदि हैं। यह शहरी सभ्यता थी। व्यापारिक केंद्र था। सुविकसित निकास प्रणाली थी। यहां सोने चांदी के जेवर, हथियार, मुहर और ईंट होने के प्रमाण मिले हैं।

यहां के लोग ऊनी और सूती वस्त्रों का प्रयोग करते थे। यहां के लोग गेंहू, जौ, मांस और फल आदि का सेवन करते थे। परंतु लोहे, गाय और घोड़े होने के प्रमाण यहां नहीं प्राप्त हुए हैं। वैदिक सभ्यता की शुरुआत सिंधु घाटी सभ्यता के पतन के बाद आर्यों के आगमन से शुरू हुई लगभग 1500 ई•पू• से 1600 ई•पू• तक इस की समय अवधि मानी जाती है। आर्य सर्वप्रथम पंजाब और अफगानिस्तान में सरस्वती नदी के किनारे बसे। इसी समय ऋग्वेद महाभारत रामायण की रचना हुई।

आर्यों की भाषा संस्कृत थी।

इसी समय आर्य जनजातियों एवं मूल आदिवासियों के बीच ऐतिहासिक संश्लेषण हुआ अर्थात मेल जोल हुआ। आर्यों की सभ्यता ग्रामीण सभ्यता थी। सत्यमेव जयते मुंडकोपनिषद से ली गयी है।

 

भारत का भूगोल

 

भारत की स्थिति उत्तरी गोलार्ध एवं पूर्वी देशांतर में है।

भारत की आकृति चतुष्कोणीय है।

भारत का अक्षांशीय विस्तार 8° 4 मिनट से 35° 6 मिनट उत्तरी गोलार्ध में है।

देशांतरीय विस्तार 68° 7 मिनट से 97° 25 मिनट पूर्वी देशांतर में है।

भारत का क्षेत्रफल 32,87,263 वर्ग किलोमीटर है। (2.42%)

भारत का क्षेत्रफल की दृष्टि से सातवां स्थान है।

जनसंख्या की दृष्टि से विश्व का दूसरा स्थान है।

विश्व की कुल जनसंख्या का 17.5% भारत में रहता है।

भारत का जो क्षेत्रफल है केवल पूरे विश्व का 2.42% है, मगर पूरे विश्व की 17.5% जनसंख्या भारत में रहती है।

उत्तर से दक्षिण विस्तार 3214 किलोमीटर है और पूर्व से पश्चिम में विस्तार 2933 किलोमीटर है।

भारत का सबसे पूर्वी बिंदु अरुणाचल प्रदेश में वलांगु है। सबसे पश्चिमी बिंदु गुजरात में है।

सबसे दक्षिणी बिंदु इंदिरा पॉइंट पिग्मेलियन पॉइंट है।

और सबसे उत्तरी बिंदु इंदिरा काल जम्मू कश्मीर में है।

दक्षिणी बिंदु भूमध्य रेखा से 876km हैं।

 

प्रायद्वीपीय भारत का दक्षिणी भाग केप कोमोरियन कन्याकुमारी।

 

मैकमोहन रेखा भारत और चीन के बीच में स्थित है यह रेखा 1914 शिमला में निर्धारित की गई थी।

 

1886 में सर डूरंड द्वारा भारत और अफगानिस्तान के बीच में डूरंड रेखा स्थापित की गई थी परंतु अब यह रेखा अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच में है।

 

भारत और पाकिस्तान के बीच रेडक्लिफ रेखा है जो 15 अगस्त 1947 को सर CJ रेडक्लिफ के द्वारा निर्धारित की गई थी।

 

डेमोग्राफिक (जनसांख्यिकी)

 

जनसांख्यिकी, मानव जनसंख्या का  सांख्यिकीय अध्ययन है। यह एक बहुत सामान्य विज्ञान हो सकता है जिसे किसी भी तरह की गतिशील मानव आबादी पर लागू किया जा सकता है, अर्थात् ऐसी आबादी जो समय और स्थान के साथ-साथ परिवर्तित होती है। इसमें जनसंख्या के आकार, संरचना और वितरण और जन्म, प्रवास, वय वृद्धि और मृत्यु के सन्दर्भ में स्थानिक और/या कालिक परिवर्तन का अध्ययन शामिल होता है।

 

जनसांख्यिकीय विश्लेषण को शिक्षा, राष्ट्रीयता, धर्म और जातीयता जैसे मानदंडों के आधार पर विभाजित पूरे समाज पर या समूहों पर लागू किया जा सकता है। शिक्षण क्षेत्र में, जनसांख्यिकी को अक्सर समाजशास्त्र, अर्थशास्त्र अथवा मानव-विज्ञान की एक शाखा के रूप में माना जाता है। औपचारिक जनसांख्यिकी के अध्ययन का लक्ष्य, जनसंख्या की प्रक्रियाओं के मापन तक सीमित है, जबकि सामाजिक जनसांख्यिकी जनसंख्या अध्ययन का अधिक व्यापक क्षेत्र, एक जनसंख्या को प्रभावित करने वाले आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और जैविक प्रक्रियाओं के बीच संबंधों का विश्लेषण करता है।

 

देश की बड़ी राजधानियां (महानगर)

 

  1. दिल्ली

 

दिल्ली भारत का एक केंद्र-शासित प्रदेश और महानगर है। इसमें नई दिल्ली सम्मिलित है जो भारत की राजधानी है। दिल्ली राजधानी होने के नाते केंद्र सरकार की तीनों इकाइयों – कार्यपालिका, संसद और न्यायपालिका के मुख्यालय नई दिल्ली और दिल्ली में स्थापित हैं 1483 वर्ग किलोमीटर में फैला दिल्ली जनसंख्या के तौर पर भारत का दूसरा सबसे बड़ा महानगर है। यहाँ की जनसंख्या लगभग 1 करोड़ 70 लाख है। यहाँ बोली जाने वाली मुख्य भाषाएँ हैं : हिन्दी, पंजाबी, उर्दू और अंग्रेज़ी।

 

  1. मुंबई

 

भारत के पश्चिमी तट पर स्थित मुम्बई (पूर्व नाम बम्बई), भारतीय राज्य महाराष्ट्र की राजधानी है। इसकी अनुमानित जनसंख्या 3 करोड़ 29 लाख है जो देश की पहली सर्वाधिक आबादी वाली नगरी है। इसका गठन लावा निर्मित सात छोटे-छोटे द्वीपों द्वारा हुआ है एवं यह पुल द्वारा प्रमुख भू-खंड के साथ जुड़ा हुआ है। मुम्बई बन्दरगाह भारतवर्ष का सर्वश्रेष्ठ सामुद्रिक बन्दरगाह है। मुम्बई का तट कटा-फटा है जिसके कारण इसका पोताश्रय प्राकृतिक एवं सुरक्षित है।

 

  1. चेन्नई

 

चेन्नई (पूर्व नाम मद्रास) भारतीय राज्य तमिलनाडु की राजधानी है। बंगाल की खाड़ी से कोरोमंडल तट पर स्थित यह दक्षिण भारत के सबसे बड़े सांस्कृतिक, आर्थिक और शैक्षिक केंद्रों में से एक है। 2011 की भारतीय जनगणना (चेन्नई शहर की नई सीमाओं के लिए समायोजित) के अनुसार, यह चौथा सबसे बड़ा शहर है और भारत में चौथा सबसे अधिक आबादी वाला शहरी ढांचा है। आस-पास के क्षेत्रों के साथ शहर चेन्नई मेट्रोपॉलिटन एरिया है, जो दुनिया की जनसंख्या के अनुसार 36 वां सबसे बड़ा शहरी क्षेत्र है।

 

  1. कोलकाता

 

बंगाल की खाड़ी के शीर्ष तट से 180 किलोमीटर दूर हुगली नदी के बायें किनारे पर स्थित कोलकाता (बंगाली: কলকাতা, पूर्व नाम: कलकत्ता ) पश्चिम बंगाल की राजधानी है। यह भारत का दूसरा सबसे बड़ा महानगर तथा पाँचवा सबसे बड़ा बन्दरगाह है। यहाँ की जनसंख्या 2 करोड 29 लाख है। इस शहर का इतिहास अत्यंत प्राचीन है। इसके आधुनिक स्वरूप का विकास अंग्रेजो एवं फ्रांस के उपनिवेशवाद के इतिहास से जुड़ा है। आज का कोलकाता आधुनिक भारत के इतिहास की कई गाथाएँ अपने आप में समेटे हुए है।